Wi-Fi 6 Technology , इस नई Wi-Fi 6 टेक्नोलॉजी में मिलेगी सुपरफास्ट कनेक्टिविटी

Wi-Fi 6 Technology में यूजर्स को पुरानीं Wi-Fi टेक्नोलॉजी के मुकाबले 40 परसेंट ज्यादा स्पीड से इंटरनेट का एक्सेस मिलेगा। इस नई तकनीक वाले डिवाइसेस 802.11ax Wi-Fi रेडियो को एक्सेस कर सकेंगे

Wi-Fi Alliance ने Wi-Fi Certified 6 टेक्नोलॉजी की घोषणा की है। इस न्यू जेनरेशन वायरलेस टेक्नोलॉजी को आने वाले Wi-Fi डिवाइस जैसे मोबाइल, राऊटर, समार्ट टीवी, CCTV जैसे डिवाइस मैं इस्तेमाल किया जाएगा। इस नई टेक्नोलॉजी के लिए Samsung, Xiaomi, Qualcomm, Broadcomm, AT&T जैसी कंपनियों ने अपनी रूचि दिखाई है। इन कंपनियों के अलावा कई और OEM (ऑरिजिनल इक्वीपमेंट मैन्युफैक्चरर्स) और Wi-Fi डिवाइस बनाने वाली कंपनियां इस नई Wi-Fi 6 Technology में अपनी रूचि दिखा सकते हैं।

Wi-Fi 6 Technology से लेस फ़िलहाल जो CCTV कैमरे आते है उन मैं कनेक्टिविटी इशू बना रहता है लेकिन इस Wi-Fi 6 Technology से लेस जो भी डिवाइस आयेंगी उनमें ये प्रॉब्लम 99 परसेंट सोल्व हो जाएगी

Wi-Fi 6 Technology में यूजर्स को पिछली Wi-Fi तकनीक के मुकाबले 40 परसेंट ज्यादा स्पीड से इंटरनेट का एक्सेस मिलेगा। इस नई तकनीक वाले डिवाइस 802.11ax Wi-Fi रेडियो डिवाइस को एक्सेस कर सकेंगे। इस टेक्नोलॉजी टर्म को यूजर फ्रेंडली बनाने के लिए इसका नाम Wi-Fi 6 रखा गया है। नई तकनीक में कई तरह के हार्डवेयर चेंजेज किए गए हैं जो इसे डिवाइस के लिए कॉम्पेटिबल बनाता है।

Wi-Fi 6 Technology को इस्तेमाल करने वाले डिवाइस में इंप्रूव्ड और बेहतर बैटरी लाइफ भी मिलेगी। अगर आप Wi-Fi 6 के जरिए अपने स्मार्टफोन या लैपटॉप में इंटरनेट एक्सेस करेंगे तो आपके डिवाइस की बैटरी की खपत कम करेगा। Wi-Fi 6 के इस फीचर को Target Wake Time (TWT) फीचर कहा जाता है। यह फीचर Wi-Fi 6 के रेडियो को कब Sleep मोड में जाना है और इसे कब Active होना है यह बताता है। इस तरह से ये नई तकनीक डिवाइस की बैटरी की बचत करता है।

Wi-Fi 6 Technology को 2020 में लॉन्च होने वाले डिवाइस में इस्तेमाल किया जा सकेगा। Wi-Fi 6 तकनीक में बैटरी सेविंग फीचर के अलावा भीड़-भाड़ वाले इलाके में बेहतर नेटवर्क कनेक्टिविटी वाला फीचर भी दिया गया है। ऐसे में यूजर्स को नेटवर्क कंजेशन की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। ये MI-MO (मल्टीपल इनपुट और मल्टीपल आउटपुट) तकनीक को भी इस्तेमाल करता है, जिससे यूजर्स को सुपरफास्ट इंटरनेट कनेक्टिविटी का लाभ मिलता है। दावा किया जा रहा है कि यह तकनीक अभी इस्तेमाल होने वाले तकनीक से 4 गुना बेहतर स्पीड में इंटरनेट कनेक्टिविटी उपलब्ध कराएगी।

Wi-Fi 6 Technology में यूजर्स को पुरानीं Wi-Fi टेक्नोलॉजी के मुकाबले 40 परसेंट ज्यादा स्पीड से इंटरनेट का एक्सेस मिलेगा। इस नई तकनीक वाले डिवाइसेस 802.11ax Wi-Fi रेडियो को एक्सेस कर सकेंगे

Wi-Fi Alliance ने Wi-Fi Certified 6 टेक्नोलॉजी की घोषणा की है। इस न्यू जेनरेशन वायरलेस टेक्नोलॉजी को आने वाले Wi-Fi डिवाइस जैसे मोबाइल, राऊटर, समार्ट टीवी, CCTV जैसे डिवाइस मैं इस्तेमाल किया जाएगा। इस नई टेक्नोलॉजी के लिए Samsung, Xiaomi, Qualcomm, Broadcomm, AT&T जैसी कंपनियों ने अपनी रूचि दिखाई है। इन कंपनियों के अलावा कई और OEM (ऑरिजिनल इक्वीपमेंट मैन्युफैक्चरर्स) और Wi-Fi डिवाइस बनाने वाली कंपनियां इस नई Wi-Fi 6 Technology में अपनी रूचि दिखा सकते हैं।

Wi-Fi 6 Technology से लेस फ़िलहाल जो CCTV कैमरे आते है उन मैं कनेक्टिविटी इशू बना रहता है लेकिन इस Wi-Fi 6 Technology से लेस जो भी डिवाइस आयेंगी उनमें ये प्रॉब्लम 99 परसेंट सोल्व हो जाएगी

Wi-Fi 6 Technology में यूजर्स को पिछली Wi-Fi तकनीक के मुकाबले 40 परसेंट ज्यादा स्पीड से इंटरनेट का एक्सेस मिलेगा। इस नई तकनीक वाले डिवाइस 802.11ax Wi-Fi रेडियो डिवाइस को एक्सेस कर सकेंगे। इस टेक्नोलॉजी टर्म को यूजर फ्रेंडली बनाने के लिए इसका नाम Wi-Fi 6 रखा गया है। नई तकनीक में कई तरह के हार्डवेयर चेंजेज किए गए हैं जो इसे डिवाइस के लिए कॉम्पेटिबल बनाता है।

Wi-Fi 6 Technology को इस्तेमाल करने वाले डिवाइस में इंप्रूव्ड और बेहतर बैटरी लाइफ भी मिलेगी। अगर आप Wi-Fi 6 के जरिए अपने स्मार्टफोन या लैपटॉप में इंटरनेट एक्सेस करेंगे तो आपके डिवाइस की बैटरी की खपत कम करेगा। Wi-Fi 6 के इस फीचर को Target Wake Time (TWT) फीचर कहा जाता है। यह फीचर Wi-Fi 6 के रेडियो को कब Sleep मोड में जाना है और इसे कब Active होना है यह बताता है। इस तरह से ये नई तकनीक डिवाइस की बैटरी की बचत करता है।

Wi-Fi 6 Technology को 2020 में लॉन्च होने वाले डिवाइस में इस्तेमाल किया जा सकेगा। Wi-Fi 6 तकनीक में बैटरी सेविंग फीचर के अलावा भीड़-भाड़ वाले इलाके में बेहतर नेटवर्क कनेक्टिविटी वाला फीचर भी दिया गया है। ऐसे में यूजर्स को नेटवर्क कंजेशन की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। ये MI-MO (मल्टीपल इनपुट और मल्टीपल आउटपुट) तकनीक को भी इस्तेमाल करता है, जिससे यूजर्स को सुपरफास्ट इंटरनेट कनेक्टिविटी का लाभ मिलता है। दावा किया जा रहा है कि यह तकनीक अभी इस्तेमाल होने वाले तकनीक से 4 गुना बेहतर स्पीड में इंटरनेट कनेक्टिविटी उपलब्ध कराएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here