TikTok हुआ हैक, COVID-19 से जुड़े फेक विडियोज WHO के अकाउंट पर डाले

tik tok hack news

TikTok जो की चीन आधारित सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है उसको हैक करके फेक विडियोज डालने का मामला सामने आया है। Mysk नाम के एक ग्रुप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), अमेरिकन रेड क्रॉस, और ब्रिटिश रेड क्रॉस के ऑफिशियल टिकटॉक अकाउंट पर फेक विडियोज पोस्ट कर दिए। इस ग्रुप का दावा है कि टिकटॉक SSL सर्टिफिकेट का उपयोग अपनी वैबसाइट के लिए नहीं करता जो की यूजर के लिए सुरक्षित नहीं है, आपको बताते चले की SSL सर्टिफिकेट होने की वजह से ही वैबसाइट मैं लॉक का बटन बना आता है जिस वैबसाइट मैं HTTPS होता है यानि की इस मैं SSL सर्टिफिकेट है यदि HTTPS की जगह HTTP का इस्तेमाल कर रहा है जो सुरक्षित नहीं है।

कैसे हैक किया टिकटॉक
हैकिंग के लिए Mysk ग्रुप ने TikTok का एक फेक सर्वर तैयार किया और इससे टिकटॉक ऐप को कनेक्ट कर दिया। ग्रुप का दावा है कि उन्होंने हैकिंग यह दिखाने के लिए की है कि टिकटॉक पर साइबर सिक्यॉरिटी का रिस्क है। हैक करने वाले ग्रुप ने WHO और Red Cross के टिकटॉक अकाउंट पर COVID-19 से जुड़े कुछ फेक विडियोज पोस्ट कर दिए। हालांकि अच्छी बात यह रही कि ये विडियोज सिर्फ वही लोग देख सकते थे जो उनके फेक सर्वर से सीधे जुड़े थे। ग्रुप ने दावा किया कि वे सिर्फ इतना दिखाना चाहते थे कि HTTP का इस्तेमाल करना कितना खतरनाक हो सकता है।

Mysk ग्रुप ने कहा, ‘टिकटॉक का कॉन्टेंट डिलिवरी नेटवर्क विडियोज और दूसरे डेटा को ट्रांसफर करने के लिए HTTP का इस्तेमाल करता है। इससे डेटा ट्रांसफर तो जल्दी हो जाता है, लेकिन इससे यूजर्स की प्रीवेसी को खतरा रहता है। HTTP ट्रैफिक को आसानी से ट्रैक किया जा सकता है और बदला जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here