(COVID-19) कोरोना: ये सरकारी ऐप कुछ ही दिनों में 50 लाख से भी ज्यादा बार डाउनलोड हो चूका है

aarogya setu app

भारत सरकार ने आधिकारिक तौर पर कोरोना वायरस या COVID-19 ट्रैकिंग एप आरोग्य सेतु (Aarogya Setu) को कुछ दिनों पहले ही लॉन्च कर दिया था।
आरोग्य सेतु ऐप को एंड्रॉयड और iOS यूजर्स दोनों प्लेटफार्म के लिए लॉन्च किया था. आरोग्य सेतु एप को राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र ने इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के साथ मिलकर तैयार किया है।
ये COVID-19 ट्रैकिेंग ऐप ब्लूटूथ और लोकेशन की मदद से किसी कोरोना संक्रमित मरीज से आपके संभावित संपर्क को ट्रैक करता है. और ताज़ा जानकारी के अनुसार ये लॉन्चिंग के महज 3 दिनों के भीतर ये ऐप भारत में गूगल प्ले और ऐप स्टोर दोनों में ही टॉप फ्री ऐप बन गया है. साथ ही इसे गूगल प्ले स्टोर पर इसे लगभग 5 मिलियन (50 लाख) से भी ज्यादा बार डाउनलोड किया गया है. और गूगल प्ले स्टोर पर फ्री कैटेगरी में टॉप पर आगया है .

आपके अपडेट के लिए बता दें, यह ऐप यूजर को ये पता लगाने में मदद करता है कि वो COVID-19 संक्रमण के जोखिम में है या नहीं. और इस सब के लिए ये ऐप चेक करता है कियूजर गलती या भूल से किसी संक्रमित व्यक्ति केसंपर्क में तो नहीं आगया है.सरकार का कहना है कि ये एप्लीकेशन लोगों को ये बताने में मदद करेगा कि उन्हें कोरोनावायरस से संक्रमण का कितना खतरा है।

आरोग्‍य सेतु एप को ब्‍लूटूथ और जीपीएस डेटा की जरूरत पड़ती है. आप एप्लीकेशन को सही काम करने के लिए इसकी अनुमति देंवे. आरोग्य सेतु कॉन्‍टैक्‍ट ट्रेसिंग के लिए आपके मोबाइल नंबर, ब्लूटूथ और लोकेशन डेटा का उपयोग भी करता है और बताता है कि आप जोखिम में है या नहीं.

एप्लीकेशन कसे दिखाता है खतरा

इस एप्लीकेशन हरे और पीले रंग के कोडों में आपके जोखिम के स्‍तर को दिखाता है. और आप को सुझाव भी देता है कि आपको क्‍या करना चाहिए.
अगर आप को ग्रीन में दिखाया जाता है तो ‘आप सुरक्षित हैं’ तो कोई खतरा नहीं है.
यदि आप को पीले रंग में दिखाया जाता है तो आप ख़तरे में है “आप सुरछित नहीं है” और आप को कोरोना से बचने के लिए आपको सोशल डिस्‍टेंसिंग को बनाए रखना चाहिए और घर पर ही रहना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here