CORONA! (कोरोना वायरस ) हैकर्स उठा रहे हैं आपकी गलती का फायदा, तो भूल कर भी ऐसा न करें ये काम

covid 19

दुनिया भर में कोरोना वायरस को लेकर एक तरह की इमरजेंसी जैसी स्थिति बन गयी है और इसी लिए कोरोना वायरस इन दिनों हैकर्स के लिए बेट यानी चारा का काम कर रहा है इसी सिलसिले में टेक कंपनियां और हेल्थ ऑर्गनाइजेशन कोरोना वायरस को लेकर सही जानकारी और बचाव के तरीकों के बारे में वेबसाइट बना रही हैं. जिस से सही इनफार्मेशन मिल सके.

रिसर्च फर्म चेक प्वॉइंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक हैकर्स यूजर्स को नुकसान पहुंचाने के मकसद से हजारों ऐसी वेबसाइट तैयार कर रहे हैं जो बेहद खतरनाक हैं.  हैकर्स द्वारा कोरोना वायरस को लेकर वेबसाइट बनाई जा रही हैं और जैसे ही यूजर इन वेबसाइट को ऐक्सेस करता है तो उसका नुकसान होता है.

(COVID-19)

THN की एक रिपोर्ट के मुताबिक हैकर्स कोरोना वायर COVID-19 आउटब्रेक को कंप्यूटर वायरस इंजेक्ट करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं. यहां तक के कोरोना वायरस नाम से जुड़े डोमेन की भारी मात्रा में खरीदारी भी चल रही है.

कोरोना वायरस से जुड़े डोमेन को खरीद कर इन्हें डार्क वेब में महंगी कीमत पर बेचा जा रहा है.और बहुत मोटा मार्जिन कमा रहे है और  रिसर्चर्स के मुताबिक डोमेन रजिस्ट्रेशन में भारी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. और ये आम दिनों के मुकाबले 10 गुना ज्यादा है.

हैकर्स कोरोना वायरस थीम वेबसाइट बना कर भी लोगों का चूना लगा रहे हैं. इतना ही नहीं ईमेल में अटैचमेंट्स के जरिए भी लोगों के मोबाइल और कंप्यूटर हैक किए जा रहे हैं. और ऑनलाइन प्लेटफार्म फेसबुक, व्हाट्स अप्प, ट्विटर द्वारा बहुत सारे एसे लिंक शेयर किये जारे है जिनके द्वारा मोबाइल आसानी से हैक किया जा सकता है कोरोना वायरस से जुड़े ईमेल भेज कर किस तरह से हैकिंग की जा रही है. आम तौर पर लोग पैनिक में आ कर इस तरह के अटैचमेंट ओपन करते हैं और फिर इससे हैकर्स का काम आसान हो जाता है.

WHO की वेबसाइट पर कोरोना वायरस से जुड़ी तमाम तरीके जानकारियां उपलब्ध है. भारत सरकार ने भी गाइडलाइन जारी की है. हेल्थ मिनिस्ट्री की वेबसाइट पर आप इसे पढ़ सकते हैं.

(COVID-19)

covid 19

आप भूल कर भी न करें ये गलती

1. किसी भी ऐसी वेबसाइट न ओपन करें जहां कोरोना के वैक्सीन या फिर कोरोना की दवा बेचने का दावा करती है. क्युकी अभी तक इसकी दवा उपल्प्ध नहीं है.

2. इसी तरह वॉट्सऐप या किसी दूसरे इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप और सोशल मीडिया पर कोरोना वायर के इलाज से जुड़े अटैचमेंट डाउनलोड न करें.

3. ऐसे ईमेल न खोलें जिसमें कोरोना वायरस के बारे में कोई अटैचमेंट है और आपको शक है कि वो किसी ऑथेन्टिक सेंडर द्वारा नहीं भेजा गया है.

4. पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस के चपेट में आ रही है और कई देशों में इसके वैक्सीन पर काम चल रहा है. जैसे ही कोई कामयाबी मिलती है आपको WHO से लेकर लोकल हेल्थ मिनिस्ट्री से जानकारी मिलेगी.

5. पैनिक में आ कर आप अपने बैंक अकाउंट या फिर संवेदनशील जानकारियों से हाथ धो बैठेंगे, इसलिए भूल कर भी इस तरह की गलतियां न करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here